Padma Awaeds

दस हजार से अधिक नामांकन प्राप्त हुए पद्म पुरस्कारों के लिए

पद्म पुरस्कार-2019 के लिए दस हजार से  अधिक नामांकन प्राप्त हुए है। पद्म  पोर्टल www.padmaawards.gov.in पर 11,475 पंजीकरण हो चुके हैं।  नामांकन/अनुशंसा  की प्रकिया 15 सितंबर तक खुली है।

गणतंत्र दिवस, 2019 के अवसर पर दिए जाने वाले पद्म पुरस्कारों के लिए ऑनलाइन नामांकन/अनुशंसा की अंतिम तिथि 15 सितंबर, 2018 है। 1 मई 2018 को नामांकन शुरू होने के बाद अबतक वेबसाइट पर 11,475 पंजीकरण हो चुके हैं जिनमें 10,453 नामांकन/अनुशंसा पूरा हो चुका है।

केन्द्रीय मंत्रालयों/विभागों, राज्यों/केंद्रशासित प्रदेशों, भारत रत्न और पद्म विभूषण पुरस्कार विजेताओं, उत्कृष्टता संस्थानों और कई अन्य स्रोतों से भी व्यापक विचारों को प्राथमिकता देते हुए नामांकन आमंत्रित किए गए हैं। 25 अप्रैल, 2018 को गृह मंत्रालय (एमएचए) से जारी विज्ञप्ति के अनुसार, इन लोगों से वैसे प्रतिभाशाली व्यक्तियों की पहचान करने का अनुरोध किया गया है जिनकी उत्कृष्टता और उपलब्धियां वास्तव में पहचाने जाने योग्य हैं और उनके पक्ष में उपयुक्त नामांकन करें।

पद्म पुरस्कारों के लिए नामांकन/अनुशंसा केवल पद्म पोर्टल www.padmaawards.gov.in पर ऑनलाइन प्राप्त की जा रही है। सभी नागरिक स्व-नामांकन सहित दूसरों के लिए भी नामांकन/अनुशंसा कर सकते हैं। नामांकन/अनुशंसा के तहत वेबसाइट पर उपलब्ध प्रारूप में निर्दिष्ट प्रासंगिक विवरण शामिल होना चाहिए तथा इसके साथ ही दिए प्रारूप फार्म (अधिकतम 800 शब्द) में उस व्यक्ति से संबंधित क्षेत्र में किए गए विशिष्ट/असाधारण उपलब्धियों/सेवा के बारे में विस्तार से वर्णन होना चाहिए। किसी व्यक्ति की ऑनलाइन सिफारिश करते समय यह सुनिश्चित किया जाना चाहिए कि सभी आवश्यक विवरण ठीक से भरें जाएं।

पद्म पुरस्कारों-पद्म विभूषण, पद्म भूषण और पद्मश्री देश के सर्वोच्च नागरिक पुरस्कारों में से हैं। 1954 में स्थापित, इन पुरस्कारों की घोषणा प्रत्येक वर्ष गणतंत्र दिवस के अवसर पर किया जाता है।

यह पुरस्कार बिना किसी भेदभाव के सभी क्षेत्रों/विषयों- कला, साहित्य और शिक्षा, खेल, चिकित्सा, सामाजिक कार्य, विज्ञान और इंजीनियरिंग, आम लोगों के मामलों, सिविल सर्विसेज, व्यापार और उद्योग में विशिष्ट और असाधारण उपलब्धियों / सेवाओं के लिए दिया जाता है।

गृह मंत्रालय से जारी विज्ञप्ति के अनुसार इस पुरस्कार के लिए महिलाओं, समाज के कमजोर वर्गों, एससी/एसटी, दिव्यांगों में भी प्रतिभाशाली व्यक्तियों की पहचान करने के लिए आग्रह किया गया है।

डॉक्टरों और वैज्ञानिकों को छोड़कर पीएसयू के साथ काम करने वाले सरकारी कर्मचारी पद्म पुरस्कारों के लिए योग्य नहीं हैं।

ज्यादा जानकारी के लिए केन्द्रीय गृह मंत्रालय की वेबसाइट www.mha.nic.in के ‘पुरस्कार और पदक’ सेक्शन पर क्लिक करें। इन पुरस्कारों से संबंधित विधि और नियम केंद्रीय गृह मंत्रालय की वेबसाइट के लिंक http://padmaawards.gov.in/SelectionGuidelines.aspx पर उपलब्ध है

 

Print Friendly, PDF & Email