Digital Rath

‘कैश लेस बनो इंडिया’ अभियान के लिए डिजिटल रथ को हरी झंडी

कॉन्फ़ेडरेशन ऑफ़ आल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने मास्टरकार्ड के साथ संयुक्त रूप से सोमचार को नई दिल्ली में अपने ” कैश लेस बनो इंडिया “ राष्ट्रीय अभियान के अंतर्गत एक डिजिटल रथ को हरी झंडी दिखाते हुए कहा कि यह अभियान देश भर में डिजिटल पेमेंट को बड़े पैमाने पर प्रोत्साहित करेगा। डिजिटल रथ आगामी 30 जनवरी तक देश भर में लगभग 10 लाख लोगों से डिजिटल पेमेंट अपनाने के लिए संपर्क करेगा।

मास्टरकार्ड के वाईस प्रेजिडेंट रोहन मिश्रा ने कहा कि कैट के साथ मिलकर हम संयुक्त रूप से भारत को एक कैश लेस सोसाइटी में परिवर्तित करने के लिए लगातार प्रयत्नशील है।  छोटे व्यापारी नकद आधारित अर्थव्यवस्था से नकद रहित अर्थव्यवस्था तक देश को ले जाने में एक बड़ी भूमिका निभा सकते हैं ।

उन्होंने जानकारी दी कि  मास्टरकार्ड ने वर्ष 2020 तक भारत में 4 करोड़ लोगों को डिजिटल पेमेंट से जोड़ने का लक्ष्य निर्धारित किया  है ।

‘कैश लेस बनो इंडिया’ अभियान के इस चरण में यह रथ ग्वालियर, झाँसी, कानपुर, कोलकाता,पुद्दुचेरी,नागपुर,भोपाल, पुणे, नवी मुंबई और मुंबई शहरों की यत्रा करेगा।

कैट के राष्ट्रीय अध्यक्ष बी.सी.भरतिया एवं राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल  ने बताया  कि अभियान के अंतर्गत डिजिटल पेमेंट से जुड़ने वाले व्यापारियों एवं डिजिटल पेमेंट से लेन देन करने वाले उपभोक्ताओं को ड्रा के माध्यम से प्रोत्साहन पुरस्कार भी दिए जाएंगे !

व्यापारी वर्ग देश की अर्थव्यवस्था की रीड़ की हड्डी है और इस वजह से यह अभियान व्यापारी वर्ग के बीच लेन-देन को और अधिक विश्वसनीय एवं पारदर्शी बनाएगा तथा टेक्नोलॉजी के उपयोग से व्यापारी डिजिटल अर्थव्यवस्था का लाभ ले सकेंगे !

उन्होंने कहा की ऐसे समय में जब देश डिजिटल इंडिया की ओर बढ़ रहा है ऐसे में डिजिटल पेमेंट इसका मुख्य केंद्र है और कैश लेस बनो इंडिया अभियान व्यापारियों को डिजिटल पेमेंट से पूरे तौर पर जोड़ेगा !

Print Friendly, PDF & Email