submarine Karanj

वैदिक ऋचाओं के स्तवन के साथ पनडुब्बी करंज लांच

वैदिक ऋचाओं के स्तवन के साथ पनडुब्बी करंज लांच  की गई।  मझगांव डॉक शिपबिल्डर्स लिमिटेड द्वारा निर्मित तीसरी स्कॉर्पीन पनडुब्बी को नेवी वाईव्ज वेलफेयर एसोसिएशन की अध्यक्ष श्रीमती रीना लांबा ने आज 31 जनवरी, 2018 को मुंबई में  लांच किया। इसके पूर्व अथर्ववेद की ऋचाओं का पाठ किया गया और पारंपरिक अनुष्ठान के उपरांत पनडुब्बी को समंदर में उतारा गया  गया। उन्होंने पनडुब्बी का नामकरण किया और उसका नाम करंज रखा।

इस अवसर पर नौसेना प्रमुख एडमिरल सुनील लांबा विशिष्ट अतिथि थे।

समारोह के दौरान पश्चिमी नौसेना कमान के एफओसी वाईस एडमिरल गिरीश लूथरा, युद्धपोत उत्पादन एवं अधिग्रहण नियंत्रक वाईस एडमिरल डी.एम. देशपाण्डे, डीजीए फ्रांस के एशिया प्रशांत प्रमुख रियल एडमिरल गुईलेम दी गेरीडेल और रक्षा मंत्रालय तथा राज्य सरकार के आला अधिकारी और विशिष्टजन भी उपस्थित थे।

उल्लेखनीय है कि स्कॉर्पीन श्रृंखला की 6 पनडुब्बियों के निर्माण का ठेका फ्रांस की मेसर्स नेवल ग्रुप को दिया गया है।

इस अवसर पर एडमिरल सुनील लांबा ने कहा कि ‘करंज’ जिससे हमारी सैन्य शक्ति में बढ़ोतरी होगी और हम आत्मनिर्भरता की तरफ बढ़ेंगे।

पिछले वर्ष 14 दिसंबर, 2017 को पहली स्कॉर्पीन श्रेणी की पनडुब्बी आईएनएस कलवारी को भारतीय नौसेना में शमिल किया गया था। उसे प्रधानमंत्री ने राष्ट्र को समर्पित किया था। दूसरी स्कॉर्पीन पनडुब्बी जनवरी, 2017 में लांच की गई थी।

Print Friendly, PDF & Email