CAIT Rath Yatra

वाॅलमार्ट डील और रिटेल में एफडीआई के खिलाफ राष्ट्रव्यापी रथयात्रा 

वाॅलमार्ट फ्लिपकार्ट डील एवं रिटेल व्यापार में एफडीआई के विरोध की शुरुआत करते हुए कॉन्फ़ेडरेशन ऑफ़ आल इंडिया ट्रेडर्स कैट ने दिल्ली के लाल किला से एक 90 दिवसीय राष्ट्रव्यापी रथ यात्रा शुरू की, जिसे सम्पूर्ण क्रांति रथ यात्रा का नाम दिया है।

रथ यात्रा  सभी राज्यों में घूम कर 16 दिसम्बर को दिल्ली के रामलीला मैदान में एक विराट रैली में परिवर्तित होगी।

रथयात्रा को कैट के वरिष्ठ राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बृजमोहन अग्रवालए दिल्ली हिंदुस्तानी मर्केंटाइल एसोसिएशन के अध्यक्ष अरुण सिंघानिया एवं कैट के राष्ट्रीय मंत्री संजय पटवारी ने हरी झंडी दिखाई ।

कैट ने 28 सितम्बर को वालमार्ट डील एवं रिटेल में एफडीआई के खिलाफ भारत व्यापार बंद का आह्वान किया है । देश भर में लगभग 7 करोड़ छोटे व्यापारी प्रतिष्ठान इस बंद में भाग लेंगे।

कैट के राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने बताया की अपने राष्ट्रीय आंदोलन को तेज़ करते हुए कैट की रथयात्रा यात्रा देश भर में 28 राज्यों में होती हुई लगभग 22 हजार किलोमीटर का रास्ता तय करेगी।

यह यात्रा मुख्य रूप से देश के लगभग 120 प्रमुख शहरों से गुजरेगी लेकिन रास्ते में पड़ने वाले लगभग 500 छोटे शहरों एवं कस्बों में भी जायेगी ! यात्रा के दौरान लगभग एक करोड़ लोगों से संपर्क होगा।

खंडेलवाल ने सरकार से इस मामले में दखल देने का आग्रह करते हुए मांग की है की वालमार्ट फ्लिपकार्ट डील को रद्द किया जाए क्योंकि यह सरकार के वर्ष 2016 के प्रेस नोट 3 का उल्लंघन करती है।

वालमार्ट के बाद अब अमेज़न एवं अलीबाबा भी इसी प्रकार की डील के रास्ते तलाश रहे हैं।

उन्होंने कहा कि भारत के रिटेल बाज़ार पर किसी एक कम्पनी या कुछ चंद कंपनियों की मनमानी या एकाधिकार किसी भी हालत में चलने नहीं दिया जाएगा ।

लागत से भी कम मूल्य पर माल बेचना, भारी मात्रा में डिस्काउंट देना और कम्पीटिशन समाप्त करने के लिए नुकसान पर माल बेचना जैसी प्रवृतियों ने देश के ई कॉमर्स बाज़ार को विकृत कर दिया है ।

वालमार्ट डील एवं रिटेल में एफडीआई के अलावा यात्रा व्यापारियों के अन्य महत्वपूर्ण विषयों को भी उठाएगी जिनमें विशेष रूप से जीएसटी का सरलीकरण, पारदर्शी ई कॉमर्स पालिसी, डिजिटल भुगतान को अपनाने और उसकी स्वीकार्यता, छोटे व्यापारियों को मुद्रा योजना एवं अन्य रास्तों से आसानी से ऋण मिलना, रिटेल व्यापार के लिए एक राष्ट्रीय व्यापार नीति, उपभोक्ता संरक्षण कानून को जल्द लागू करना आदि शामिल हैं।

यात्रा में विभिन्न राज्यों के स्थानीय ज्वलंत मुद्दे जैसे दिल्ली में सीलिंग और तोड़ फोड़, महाराष्ट्र एवं अन्य राज्यों में प्लास्टिक पर प्रतिबन्ध आदि को भी उठाया जाएगा !

रथयात्रा के दौरान देश भर के राज्यों में ट्रेड एसोसिएशन बड़े पैमाने पर इस डील एवं रिटेल में एफडीआई के खिलाफ कांफ्रेंस, सेमिनार, वर्कशॉप, धरने, प्रदर्शन आदि करेंगे।

Print Friendly, PDF & Email