Hospital

देश के हर कोने में मिलेगा आयुष्मान भारत का लाभ

केंद्र सरकार द्वारा 50 करोड़ लोगों को स्वास्थ्य सुरक्षा देने के लिए प्रायोजित ‘आयुष्मान भारत राष्ट्रीय स्वास्थ्य संरक्षण मिशन’ (एनएचपीएम)  योजना का लाभ देश के किसी भी कोने में प्राप्त किया जा सकता है। इस योजना में पहले दिन से ही पूर्व मौजूद शर्तों को कवर किया जाएगा। अस्पताल जाने में हुआ खर्च भी लाभार्थी को दिया जाएगा।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जे पी नड्डा ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय कैबिनेट ने केंद्र सरकार द्वारा प्रायोजित राष्ट्रीय स्वास्थ्य संरक्षण मिशन को मंजूरी दे दी है। मिशन में केंद्रीय सरकार का हिस्सा आयुष्मान भारत के तहत उपलब्ध होगा, जो स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के अंतर्गत एक कार्यक्रम है।

नड्डा ने कहा कि एनएचपीएम सार्वभौमिक स्वास्थ्य कवरेज की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है। यह स्वास्थ्य खर्च की भयावहता से 50 करोड़ लोगों (10 करोड़ परिवारों) को सुरक्षित करेगा। यह कार्यक्रम, देश के निर्धनतम लोगों की सहायता करने की हमारी प्रतिबद्धता को दोहराता है। इससे देश के 40 प्रतिशत जनसंख्या को लाभ मिलेगा।

एक अस्पताल का फाइल फोटो

यह योजना अस्पताल में भर्ती होने के द्वितीयक और तृतीयक स्तर को कवर करेगी। श्री नड्डा ने आगे कहा कि पांच लाख रुपये की कवरेज वाली इस योजना में परिवार के आकार और उम्र की कोई सीमा नहीं रहेगी। इलाज के लिए अस्पताल में दाखिल होने के वक्त यह योजना गरीब और कमजोर परिवारों की मदद करेगी। सामाजिक-आर्थिक-जाति जनगणना के आंकड़ों के आधार पर समाज के गरीब और असहाय जनसंख्या को आयुष्मान भारत-एनएचपीएम योजना से वित्तीय मदद मिलेगी। केंद्र सरकार द्वारा प्रायोजित ‘राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना’ (आरएसबीवाई) तथा वरिष्ठ नागरिक स्वास्थ्य बीमा योजना (एससीएचआईएस) योजनाएं एनएचपीएम में शामिल कर दी जाएंगी।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि सरकार द्वारा वित्त पोषित यह विश्व की सबसे बड़ी स्वास्थ्य बीमा योजना होगी। लोग सरकारी और अधिसूचित निजी अस्पतालों में इलाज की सुविधा प्राप्त कर सकेंगे। सभी सरकारी अस्पतालों को इस योजना में शामिल किया गया है। निजी अस्पतालों की ऑनलाइन सूची बनाई जाएगी।

नड्डा ने कहा कि आयुष्मान भारत-एनएचपीएम योजना, एनएचएम के साथ तालमेल बनाएगी ताकि सार्वजनिक स्वास्थ्य अवसंरचना को सुदृढ़ बनाया जा सके। आधार नम्बर के द्वारा सत्यापन तथा लागत में नियंत्रण आदि कदमों के द्वारा इस योजना में पारदर्शिता लाई जाएगी और इसे व्यापक रूप से सुलभ बनाया जाएगा।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने आगे कहा कि एनएचपीएम सार्वभौमिक स्वास्थ्य देखभाल की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है, क्योंकि 50 करोड़ लोगों को स्वास्थ्य देखभाल में होने वाले खर्च में पर्याप्त मदद मिलेगी। आयुष्मान भारत-एनएचपीएम योजना जीवन को आसान तरीके से जीने में सहायता प्रदान करेगी और लोग देश के किसी भी हिस्से में स्वास्थ्य सुविधाओं का लाभ प्राप्त कर सकेंगे।

नड्डा ने कहा कि आयुष्मान भारत-एनएचपीएम योजना से सहयोगी संघवाद की भावना मजबूत होगी। इस योजना में विभिन्न मंत्रालयों के स्वास्थ्य सुरक्षा व बीमा योजनाओँ को शामिल किया जाएगा।

Print Friendly, PDF & Email