Shivraj

बेटियों की निरंतर पढ़ाई के लिये मध्य प्रदेश में कानून बनेगा

भोपाल, 12 अक्टूबर(जनसमा)। बेटियों की निरंतर पढ़ाई की व्यवस्था के लिये मध्य प्रदेश में कानून बनाया जाएगा। बेटियाँ पृथ्वी पर ईश्वर का सबसे बड़ा उपहार हैं।

यह घोषणा करते हुए मुख्यमंत्री चौहान ने अपने निवास पर लाड़ली शिक्षा पर्व के छात्रवृत्ति वितरण समारोह को संबोधित करते हुए यह भी कहा कि प्रदेश में बेटियों के नियमित स्वास्थ्य परीक्षण की व्यवस्था की जाएगी। कार्यक्रम में महिला-बाल विकास मंत्री श्रीमती अर्चना चिटनिस उपस्थित थीं। प्रदेशभर में आज 65 हजार लाड़ली लक्ष्मी बेटियों को छात्रवृत्ति वितरित की गई।

Chief Minister Shivraj Singh Chauhan distributed scholarship to Ladli daughters in the program organized under Ladli Shiksha Parva at the Chief Minister’s residence in Bhopal on 12 October, 2017.

मध्यप्रदेश में 26 लाख 30 हजार लाड़ली लक्ष्मी बेटियाँ हैं। इनके 21 वर्ष के होने पर उनके परिवारों को 31 हजार करोड़ रुपये मिलेंगे। लाड़ली लक्ष्मी योजना में बेटियों के लिये छात्रवृत्ति की व्यवस्था की गई है।

प्रदेश की बेटियों को 12वीं कक्षा में 85 प्रतिशत लाने पर लेपटॉप और कॉलेज में प्रवेश लेने पर स्मार्ट फोन दिया जाता है। कक्षा 12 की परीक्षा में 75 प्रतिशत से अधिक अंक लाने के बाद महाविद्यालय में प्रवेश लेने पर उनकी फीस मेधावी विद्यार्थी योजना से भरी जाएगी।

Print Friendly, PDF & Email