Close watch on cash withdrawals

बैंकों से एक लाख रुपये से अधिक नकद निकालने वालों पर कड़ी नजर

राजस्थान में चुनाव आयोग के निर्देश से बैंकों से एक लाख रुपये से अधिक की नकद धन राशि निकालने वालों पर कड़ी नजर close watch रखी जाएगी।
लोक सभा आम चुनाव-2019 की तैयारियों के मद्देनजर बुधवार को  मुख्य निर्वाचन अधिकारी आनंद कुमार ने निर्देश दिए कि राज्य स्तरीय बैंकिंग समिति प्रदेश में एक लाख रुपए से ज्यादा संदिग्ध  लेन-देन करने वालाें पर कड़ी नजर close watch  रखे
चुनाव में उम्मीदवार के अलग अकाउंट खोलने के लिए सभी बैंकों को निर्देश जारी करें।
उन्होंने कहा कि आयकर विभाग एयरपोर्ट्स पर नगदी पर नजर close watch रखने के लिए टीमें गठित करें। साथ ही जिलों में भी इन्कम टैक्स की टीमें बनाई जाएं।
निर्वाचन व्यय अनुवीक्षण के संबंध में विभिन्न विभागों के नोडल अधिकारियों की बैठक सम्पन्न हुई।
इस दौरान आबकारी, आयकर, वाणिज्य कर, नारकोटिक्स, रेलवे, एयरपोर्ट ऑथोरिटी विभाग के अधिकारियों ने हिस्सा लिया।
सचिवालय परिसर स्थित समिति कक्ष-1 में हुई बैठक में    उन्होंने सभी नोडल अधिकारियों से चर्चा की।
उन्होंने कहा कि आचार संहिता के दौरान पर्ची के आधार पर शराब की बिक्री नहीं हो। इसके साथ ही प्रतिदिन शराब की बिक्री की मॉनीटरिंग भी की जाए।
उन्होंने गोदाम से रिटेल शराब बिक्री नहीं करने, निगरानी के लिए मुखबिर बढ़ाने और चैक पोस्ट की संख्या में बढ़ोतरी करने पर जोर दिया।
मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने पुलिस नोडल अधिकारी (व्यय अनुवीक्षण) को कानून एवं व्यवस्था के लिए माकूल इंतजामात करने के साथ जिलेवार फ्लाइंग स्क्वायड बनाने, कैश पर निगरानी रखने सहित बैठक में मौजूद अन्य विभागों को भी आवश्यक निर्देश दिए।
उन्होंने रेलवे अधिकारियों को कैश, शराब एवं मादक पदार्थों की आवाजाही पर कड़ी निगरानी close watch  रखने के साथ ही 10 लाख रुपए से ज्यादा की जब्ती पर आयकर विभाग को तत्काल सूचित करने के भी निर्देश दिए।
कुमार ने वाणिज्य कर विभाग के अधिकारियों से कहा कि वे जिलेवार टीमों का गठन करें।
होलसेल का सामान रखने वाले ऎसे उत्पाद जिनका उपयोग चुनाव के दौरान मतदाताओं को लुभाने के लिए हो सकता है, उनकी भारी बिक्री पर कड़ी नजर रखी जाए।
उन्होंने पुलिस विभाग से फ्लाइंग स्क्वायड, एसएसटी की प्रतिदिन रिपोर्ट लेने, विशेष इवेंट्स की रिपोर्टिंग और वीडियोग्राफी करवाने, नाका और चेक पोस्ट्स पर सीसीटीवी से निगरानी और उनकी वीडियोग्राफी करवाने, आपत्तिजनक मोबाइल संदेशों के प्रति जनता को जागरूक करने सहित अन्य विषयों पर अब तक की गई कार्यवाही की जानकारी हासिल की।
इससे पहले अतिरिक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी डॉ. जोगाराम ने बैठक के संबंध में एजेंडावार बिंदुओं पर चर्चा करते हुए कहा कि संबंधित सभी नोडल अधिकारी भारत निर्वाचन आयोग द्वारा दिए गए निर्देशों के क्रम में व्यवस्थाएं सुनिश्चित करें।
इस अवसर पर आईजी (सीआईडी, सीबी)  विशाल बंसल, आयुक्त वाणिज्य कर प्रीतम बी. यशवंत, अतिरिक्त आयुक्त आबकारी सीआर देवासी, मातादीन शर्मा, अतिरिक्त निदेशक आयकर सुश्री सपना भाटिया, जोनल डायरेक्टर (एनसीबी) नारकोटिक्स विजेन्द्र सिंह, उत्तर-पश्चिम रेलवे के सीनियर पीआरओ कमल जोशी, एयरपोर्ट ऑथोरिटी से रतन सिंह, एसएलबीसी से राकेश कुमार शर्मा सहित संबंधित सभी अधिकारी उपस्थित थे।
Print Friendly, PDF & Email