Modi

अयोध्या मामले को सुप्रीम कोर्ट में बाधित करने की कोशिश कर रही है कांग्रेस

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आरोप लगाया कि कांग्रेस अपने वकील को भेजकर अयोध्या मामले को सुप्रीम कोर्ट में बाधित करने की कोशिश कर रही है।

मोदी  नई दिल्ली के रामलीला मैदान में शनिवार 12 जनवरी को  भाजपा की  राष्ट्रीय परिषद के अधिवेशन में देश भर से आए भाजपा के प्रतिनिधियों को संबोधित कर रहे थे।

मोदी ने  कांग्रेस पर जमकर हमला बोलते हुए कहा कि जिन पर जनता के पैसों की रक्षा करने की जिम्मेदारी थी वह जनता के पैसों को लुटा रहे थे।

मोदी ने कांग्रेस पर आरोप लगाया है कि उसने देश में घोटालेबाजों को बैंकों से हजारों करोड़ रुपए का लोन दिलाने में मदद की।

उन्होंने कहा कि देश में बैंकों से लोन लेने के दो ही तरीके थे ।   पहला तरीका था कॉमन प्रोसेस का।  दूसरा तरीका था कांग्रेस प्रोसेस।  कॉमन प्रोसेस में आदमी को गारंटी देनी होती थी और बहुत सारे कागजात भरने होते थे और 10 -20 लाख रुपए का लोन मिल जाता था लेकिन कांग्रेस प्रोसेस में बैंकों को मजबूर किया जाता था और घोटालेबाज दोस्तों को  हजारों करोड़ रुपए का लोन दे दिया जाता था। यह कांग्रेस का  फोन बैंकिंग था।

मोदी ने बताया कि आजादी से लेकर 2008 तक 60 साल में बैंकों ने 18 लाख करोड़ रुपए का लोन दिया था लेकिन 2008 से 2014 के बीच 6 साल में बैंकों ने 34 लाख करोड़ रुपए का लोन बांट दिया।

राहुल गांधी और कांग्रेस पर जमकर हमला बोलते हुए कहा कि उनके गुजरात के मुख्यमंत्री रहने के दौरान केंद्र ने उन्हें खूब परेशान किया और उनसे घंटों पूछताछ की गई।

मोदी ने  कहा कि  यह लड़ाई सल्तनत और संविधान में आस्था रखने वाले लोगों के बीच है। एक तरफ वे लोग हैं जिन्हें हर हाल में केवल अपनी सल्तनत बचाए रखनी है और दूसरी तरफ हम लोग हैं, जो बाबासाहेब अंबेडकर के संविधान को मानते हैं, उसके अनुसार चलते है।

उन्होंने कहा कि देश मजबूत सरकार चाहता है, वो मजबूर सरकार चाहते हैं…मोदी ने आरोप लगाया कि ये दल एक साथ आ रहे हैं क्योंकि वे भाई-भतीजावाद और भ्रष्टाचार को बढ़ावा देने के लिए एक असहाय सरकार बनाना चाहते हैं।

मोदी ने  कहा कि बीते चार-साढ़े चार वर्षों में जिस तरह भाजपा ने केंद्र और राज्यों में सरकारें चलाई हैं, उसने जनमानस में यह स्थापित कर दिया है कि देश को अगर नई ऊँचाई पर कोई राजनीतिक दल ले जा सकता है, तो वो भारतीय जनता पार्टी ही है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विपक्षी दलों के प्रस्तावित महागठबंधन को एक असफल प्रयोग बताया है।

उन्होंने गर्व के साथ कहा कि राष्ट्र के इतिहास में पहली बारए किसी सरकार पर भ्रष्टाचार का एक भी आरोप नहीं है। पिछली संप्रग सरकार ने देश को अंधेरे में धकेल दिया था और भारत ने घोटालों और भ्रष्टाचार के आरोपों में 10 महत्वपूर्ण वर्ष गंवा दिए।

Print Friendly, PDF & Email