Amit Shah

आगामी लोकसभा चुनाव अमित शाह के मार्गदर्शन में लड़ने का फैसला

एक महत्वपूर्ण कदम उठाते हुए सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी ने शनिवार को नई दिल्ली में अपने राष्ट्रीय अध्यक्ष के कार्यकाल को बढ़ा दिया और 2019 के लोकसभा चुनावों को उनके मार्गदर्शन में लड़ने का फैसला किया।

पार्टी ने 201 9 के लोकसभा चुनाव तक संगठनात्मक चुनावों को भी स्थगित कर दिया ताकि चार राज्यों  के आगामी  विधानसभा चुनावों पर ध्यान केंद्रित कर सके।

रक्षा मंत्री और वरिष्ठ पार्टी नेता निर्मला सीतारमण ने दो दिवसीय राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक के बाद मीडिया को राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के भाषण के मुख्य बिंदुओं की जानकारी दी।

शाह का हवाला देते हुए सुश्री सीतारमण ने कहा कि विपक्ष द्वारा लाया गया अविश्वास प्रस्ताव उनकी निराशा और विघटनकारी राजनीति दिखाता है। उन्होंने कहा कि बीजेपी भारत बनाने पर काम कर रही है जबकि कांग्रेस भारत तोड़ने की राजनीति में शामिल है।

बीजेपी अध्यक्ष का हवाला देते हुए सुश्री सीतारमण ने कहा कि अगले लोकसभा चुनाव मोदी सरकार की उपलब्धियों के आधार पर लड़े जाएंगे और पार्टी कार्यकर्ताओं से लोगों के लिए सरकार का अच्छा काम करने के लिए कहा जाएगा।

राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में अमित शाह ने कहा कि प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भाजपा 2014 की तुलना में 2019 में एक बड़ा जनादेश प्राप्त करेगी।

उन्होंने कहा कि भारत के लोग हमारे सकारात्मक एजेंडे पर प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी के साथ खड़े हैं, भले ही विपक्ष झूठ और मिथकों की राजनीति का सहारा ले रहा है।

शाह ने कहा कि एक असफल, हताश कांग्रेस पार्टी जातिवाद और अल्पसंख्यक अपमान की राजनीति में शामिल रही है। देश के लोग इस बार फिर से उसे खारिज कर देंगे।

बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि जब 2014 में नरेंद्र मोदी प्रधान मंत्री बने तब भारत दुनिया की 9वीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था थी जो अब 6 ठे स्थान पर पहुंच गई है। हम तेजी से 5 वीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था के रूप में उभर रहे हैं। यह सब प्रगति केवल अद्वितीय आर्थिक शासन के कारण संभव हुई है।

 

Print Friendly, PDF & Email