Construction Technology

भारत में शहरीकरण को देखते हुए वैश्विक आवास टेक्नोलॉजी की आवश्यकता

भारत में तेजी से हो रहे शहरीकरण को देखते हुए वैश्विक आवास टेक्नोलॉजी की आवश्यकता महसूस की जा रही हैं ।

यह बात प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शनिवार को नई दिल्ली के विज्ञान भवन में निर्माण टेक्नोलॉजी इंडिया समारोह को संबोधित करते हुए कही।

मोदी ने घोषणा कि अपैल 2019 से मार्च 2020 तक आवास टेक्नोलॉजी वर्ष मानाया जाएगा।

उन्होंने कहा कि अलग.अलग भौगोलिक स्थितियों में टेक्नोलॉजी housing technology को अपनाना भी एक चुनौती है।

मोदी ने प्रत्येक परिवार के घर का सपना साकार करने की दिशा में केन्द्र सरकार के संकल्प पर बल दिया।

प्रधानमंत्री ने किफायती आवास, रियल स्टेट क्षेत्र, कौशल विकास तथा आवास टेक्नोलॉजी पर काफी बल दिया गया है ।

उन्होंने 2022 तक प्रत्येक भारतीय को घर देने के अपने सपने को दोहराया और कहा कि उनके कार्यकाल में 1.3 करोड़ घर बनाए गए हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार टैक्स तथा अन्य प्रोत्साहनों के माध्यम से लोगों के लिए घर खरीदना आसान बना रही है।

मोदी  ने कहा कि भू.सम्पदा ;नियमन और विकास (अधिनियम, रेरा) ने डेवलेपरों में उपभोक्ताओं का विश्वास बढ़ाया है औऱ रियल स्टेट क्षेत्र में पारदर्शिता आई है।
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि वैश्विक आवास टेक्नोलॉजी चुनौती एक प्लेटफार्म है जो भारत की निर्माण प्राणाली को अंतर्राष्टीªय मानक तक ऊपर उठाने में सहायक होगा।

 

Print Friendly, PDF & Email