सरदा और चिट फंड घोटाले में शामिल लोगों को बख्शा नहीं जाएगा 

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने   चेतावनी दी कि सरदा, नारदा और रोज वैली के चिट फंड घोटाले में शामिल लोगों को उनके पोर्टफोलियो के बावजूद बख्शा नहीं जाएगा।

मोदी ने   जनता को संबोधित करते हुए कहा   कि पश्चिम बंगाल में मां, माटी, मानुष के नाम पर जिनको आपने सत्ता दी, जिनको कम्यूनिस्टों के कुशासन से मुक्ति दिलाने का जिम्मा दिया, उन्होंने वही खून-खराबे का पॉलिटिकल कल्चर अपना बना लिया है

मोदी  जलपाईगुड़ी (पश्चिम बंगाल) में आयोजित विशाल जनसभा और मोइनागुरी में एक  रैली को संबोधित कर रहे थे।

मोदी ने दृढ़ता से कहा कि केंद्र ट्रिपल तालक विधान के कार्यान्वयन से पीछे नहीं हटेगा।

मोदी ने आज दोपहर पश्चिम बंगाल के मोइनागुरी में एक सार्वजनिक रैली को संबोधित करते हुए कहा कि उनकी सरकार मुस्लिम महिलाओं के सामाजिक न्याय के लिए प्रतिबद्ध है।

इस मुद्दे पर विपक्षी कांग्रेस की आलोचना करते हुए, प्रधान मंत्री ने कहा कि पार्टी न केवल संसद में कानून को बाधित कर रही है, बल्कि यह भी कह रही है कि लोकसभा चुनावों में सत्ता में आने पर इसे वापस ले लिया जाएगा।

मोदी ने कोलकाता में चिट फंड घोटाले में सीबीआई के कदम के खिलाफ पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्री के धरने-प्रदर्शन की आलोचना की।

उन्होंने ममता बनर्जी को धोखाधड़ी के फंड घोटाले में उन आरोपियों को संरक्षण देने के लिए आलोचना की।

प्रधान मंत्री ने कहा कि करीब 2 हज़ार करोड़ रुपए की लागत से बनने वाले ‘फलाकाता- सलसलाबाड़ी’ नेशनल हाईवे की फोर लेनिंग के प्रोजेक्ट का शिलान्यास किया गया है। जब ये प्रोजेक्ट पूरा हो जाएगा तो इससे सिलीगुड़ी आने-जाने के लिए सुविधा बढ़ जाएगी।

उन्होंने कहा कि आज आपकी दशकों पुरानी एक और मांग पूरी हुई है। थोड़ी देर पहले ही कलकत्ता हाईकोर्ट की जलपाईगुड़ी खंडपीठ का उद्घाटन किया गया है। इस खंडपीठ के लिए जलपाईगुड़ी, दार्जिलिंग, कलिंगपोंग, कूच बिहार और इस क्षेत्र के सभी बहनों-भाइयों को बहुत-बहुत बधाई।

उन्होंने कहा कि अब आपको हाईकोर्ट से जुड़े अपने मामलों के लिए कोलकाता नहीं जाना पड़ेगा, यहीं जलपाईगुड़ी में ही आपको समाधान मिलेगा। इससे समय की बचत तो होगी ही, आपका पैसा भी बचेगा।

मोदी ने कहा कि नॉर्थ बंगाल का मेरा एक खास रिश्ता भी है। ये रिश्ता है चाय का। आप चाय उगाने वाले हैं और मैं चाय बनाने वाला। यहां की चाय देश और दुनिया बड़े चाव से पीती है। चाय की बात करते हुए ही, मेरे मन में ये भी सवाल आता है कि आखिर चायवालों से दीदी को इतनी चिढ़ क्यों है।ब होगा।

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि मैं चिटफंड घोटालों के एक-एक पीड़ित को ये विश्वास दिलाने आया हूं कि आपको इस स्थिति में पहुंचाने वालों को, कानून के दरवाजे तक पहुंचाया जाएगा।

Print Friendly, PDF & Email