File photo Mosi receiving memorandom

राजस्थानी भाषा को मान्यता, मोदी ने सुना और मुस्कुरा दिए

संसद भवन में गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का ध्यान राजस्थानी भाषा को संवैधानिक मान्यता दिये जाने की ओर आकर्षित किया गया, मोदी ने ध्यान से सुना और मुस्कुरा दिए।

इस मौके पर भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह भी मौजूद थे।

प्रधानमंत्री व भाजपा अध्यक्ष संसद के केन्द्रीय कक्ष से लोकसभा की ओर जा रहे थे । वरिष्ठ पत्रकार राजेन्द्र व्यास ने प्रधानमंत्री मोदी को रोक कर राजस्थानी भाषा के साथ ही भोती और भोजपुरी को संवैधानिक मान्यता प्रदान किये जाने के सम्बंध में उनके द्वारा दिये गए आश्वासन की याद दिलाई।

फाइल फोटो  :  राजस्थानी को संवैधानिक मान्यता दिये जाने की मांग का ज्ञापन स्वीकार करते हुए प्रधानमंत्री ।

व्यास ने उन्हें राजस्थानी पत्रिका ‘माणक’ की नवीनतम प्रति भी भेंट की।

‘माणक’ और ‘जलते दीप’ के संपादक पदम मेहता तथा दिल्ली प्रतिनिधि राजेन्द्र व्यास राजस्थानी भाषा को संविधान की आठवीं अनुसूची में शामिल कराने के प्रयास में पिछले कई वर्षों से जुटे  हुए है।

Print Friendly, PDF & Email