नागपुर स्थित संघ में विश्वास, किसी अन्य में नहीं : पर्रिकर

पणजी, 31 जनवरी | राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) की गोवा इकाई के पूर्व प्रमुख सुभाष वेलिंगकर की ओर से पेश की गई राजनीतिक चुनौतियों पर रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने मंगलवार को टिप्पणी करने से इनकार कर दिया। उन्होंने कहा कि वह केवल उस राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ में विश्वास करते हैं जिसका मुख्यालय नागपुर में है। किसी अन्य संगठन से उनका कोई लेना देना नहीं है।

पर्रिकर ने यहां एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, “यहां संघ परिवार भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का पूरा समर्थन कर रहा है। मैं उस संघ में विश्वास करता हूं जिसका मुख्यालय नागपुर में है। मैं वेलिंगकर के बारे में बोलना नहीं चाहता हूं। उनकी एक राजनीतिक पार्टी है और वह अपने एजेंडे के साथ आगे बढ़ रहे हैं। हम अपने एजेंडे के साथ आगे बढ़ रहे हैं। चुनना लोगों को है।”

पर्रिकर और भाजपा की कड़ी आलोचना करने की वजह से गत साल वेलिंगकर को संघ के राज्य प्रमुख के पद से हटा दिया गया था। उन्होंने राज्य में सरकारी सहायता प्राप्त प्राथमिक स्कूलों में पढ़ाई के माध्यम के रूप में क्षेत्रीय भाषा की जगह अंग्रेजी भाषा का समर्थन करने के लिए पार्टी और पर्रिकर, दोनों की निंदा की थी।

वेलिंगकर को हटाए जाने के विरोध में गोवा में करीब 2000 पूर्णकालिक स्वयं सेवकों ने संघ से सामूहिक त्याग पत्र दिया था और उनका समर्थन करने का फैसला किया था। वह नव गठित राजनीतिक पार्टी गोवा सुरक्षा मंच के मुखिया भी हैं।

मंच, महाराष्ट्र गोमांतक पार्टी (एमजीपी) और शिवसेना के साथ मिलकर राज्य में विधानसभा चुनाव लड़ रहा है जिसके लिए मतदान चार फरवरी को होगा। एमजीपी, गोवा में भाजपानीत सरकार में एक सहयोगी पार्टी रह चुकी है। –आईएएनएस

 

Print Friendly, PDF & Email