Sitaraman

पाक के साथ आतंक और बातचीत साथ-साथ नहीं चल सकते

रक्षा मंत्री श्रीमती सीतारमण ने दोहराया कि पाकिस्तान के साथ आतंक और बातचीत दोनों साथ-साथ नहीं चल सकते और इस बारे में सरकार का रुख विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने पहले ही बताया है।

उन्होंने कहा “सीमा पर सीजफायर बहुत महत्वपूर्ण है, लेकिन देश पर किसी भी आतंकवादी हमले का जवाब देना भी उतना ही महत्वपूर्ण है।”

रक्षा मंत्री श्रीमती सीतारमण अपने मंत्रालय की पिछले चार वर्षों की उपलब्धियों के बारे में नई दिल्ली में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित कर रहे थी।

उन्होंने कहा कि सीमाएं सुरक्षित रखने के लिए भारतीय सेना किसी भी अप्रत्याशित हमले का जवाब देने के लिए हर समय सक्षम है।

नई दिल्ली में प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए रक्षा मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण : टीवी फोटो

सीतारमण ने कहा, सीमा की रक्षा करना सरकार का कर्तव्य है और अगर भारत को उत्तेजित किया गया तो वह रुकेगा नहीं।

एक प्रश्न के उत्तर में श्रीमती सीतारमण ने कहा, राफेल सौदे में कोई घोटाला नहीं है। उन्होंने देश को आश्वस्त किया कि एक भी पैसे का भ्रष्टाचार नहीं हुआ है।

सीतारमण ने यह भी कहा कि सेना के पास रक्षा के लिए गोला बारूद की कोई कमी नहीं है।

रक्षा मंत्री ने कहा कि सशस्त्र बलों को यूपीए सरकार के तहत धन की कमी का सामना करना पड़ा था। अब कोई कमी नहीं है।

Print Friendly, PDF & Email