खेलों में रोल मॉडल बनकर ऊभरा मध्यप्रदेश

भोपाल, 01 जनवरी। बीते एक वर्ष में मध्यप्रदेश ने खेलों के क्षेत्र में उल्लेखनीय प्रगति हासिल की है। प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा खेलों में ली जा रही विशेष रूचि और खेलमंत्री यशोधरा राजे सिंधिया के सतत प्रयासों से मध्यप्रदेश खेलों में रोल मॉडल बनकर ऊभर रहा है। सरकार की मंशा है कि मध्य प्रदेश के अधिकतम खिलाड़ी अंतर्राष्ट्रीय स्पर्धाओं में भागीदारी करें और पदक जीतकर प्रदेश को गौरवान्वित करें। खिलाड़ियों को मिल रही गुणवत्तापूर्ण खेल सुविधाएं, उच्च प्रशिक्षण और खेल अकादमियों के बेहतर संचालन से देश में मध्य प्रदेश की अलग पहचान बनी है।

इसी के चलते केन्द्र सरकार द्वारा प्रदेश को प्रधानमंत्री अवार्ड से नवाजा गया है। प्रदेश के खेल मॉडल का अध्ययन करने के लिए 7 राज्यों के अधिकारियों का दल प्रदेश का भ्रमण कर चुका है, जिसमें राजस्थान, छत्तीसगढ़, गोवा, अंडमान निकोबार, उड़ीसा, नागालैण्ड और मेघालय शामिल हैं।

फोटोः मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान 08 दिसंबर 2015 को मुख्यमंत्री कप खेल प्रतियोगिता के शुभारंभ के दौरान

मध्यप्रदेश हुआ सम्मानित

मध्यप्रदेश को दूसरी बार सेलिंग की गतिविधियों के बेहतर संचालन के लिए एडमिरल कोहली अवार्ड से नवाज़ा गया है। खेल एवं युवा कल्याण मंत्री ने नई दिल्ली में चीफ ऑफ नेवल स्टॉफ एडमिरल आर. के. धवन से यह पुरस्कार ग्रहण किया। इस अवसर पर संचालक खेल और युवा कल्याण उपेन्द्र जैन भी मौजूद थे।

उल्लेखनीय है कि राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय स्तर के सेलिंग इवेन्ट में बेहतर प्रदर्शन, खिलाडियों के चयन हेतु कोचिंग कैम्प के आयोजन, गुणवत्तापूर्ण नेतृत्व क्षमता और याटिंग खेल में सक्रिय भागीदारी एवं सहयोग करने के प्रसंशनीय कार्यों के लिए खेल विभाग को वर्ष 2013 में भी एडमिरल कोहली अवार्ड मिल चुका है।

उल्लेखनीय है कि मध्यप्रदेश देश का पहला राज्य है जहाँ ओलम्पियन क्लास 49 मत बोट पुरुषों के लिए तथा 49 मत बोट महिला खिलाड़ियों के लिए उपलब्ध हैं।

राष्ट्रीय खेलों में मध्य प्रदेश ने की प्रगति

केरल में 31 जनवरी से 14 फरवरी, 2015 से आयोजित 35वें राष्ट्रीय खेलों में मध्यप्रदेश के खिलाड़ियों ने अब तक का सर्वश्रेष्ट प्रदर्शन किया और लक्ष्य के अनुरूप पदक जीतकर प्रदेश को गौरवान्वित किया। राष्ट्रीय खेलों मध्यप्रदेश ने 23 स्वर्ण, 26 रजत और 42 कांस्य सहित कुल 91 पदक हासिल कर राष्ट्रीय खेलों में मध्यप्रदेश ने पदक तालिका में छटवां स्थान प्राप्त किया है जोकि झारखंड में वर्ष 2011 में आयोजित पिछले राष्ट्रीय खेलों की पदक तालिका की तुलना में दो पायदान ऊपर है। उल्लेखनीय है कि झारखंड की पदक तालिका में मध्यप्रदेश आठवें स्थान पर रहा था।

खिलाड़ियों को प्रोत्साहन

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने राष्ट्रीय खेलों में पदक विजेता खिलाडियों की सम्मान राशि में वृद्धि की घोषणा की है। उन्होंने व्यक्तिगत विधाओं में स्वर्ण पदक विजेताओं की राशि 4 लाख से बढ़ाकर 5 लाख, रजत पदक विजेताओं को 3 लाख 20 हजार से बढ़ाकर 4 लाख एवं कांस्य पदक विजेता को 2 लाख 40 हजार से बढ़ाकर 3 लाख रूपये किए जाने और टीम इवेंट में स्वर्ण पदक विजेता टीम की पुरस्कार राशि 2 से बढ़ाकर ढ़ाई लाख, रजत पदक विजेता के लिए 1 लाख 60 हजार से बढ़ाकर 2 लाख 25 हजार और कांस्य पदक विजेता के लिए राशि 1 लाख 20 हजार से बढ़ाकर 2 लाख रूपये करने की घोषणा की है।

केरल में आयोजित 35वें राष्ट्रीय खेलों के विजेता खिलाडियों और प्रशिक्षकों को पुरस्कृत और सम्मानित करने के लिए आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री द्वारा यह घोषणा की गई। कार्यक्रम में 85 खिलाडी और 30 खेल प्रशिक्षकों को पुरस्कृत एवं सम्मानित किया गया।

खिलाड़ी जिन्होंने अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर किया प्रदेश को गौरवान्वित

कु. हर्षिता तोमर (सेलिंग खिलाड़ी)- प्रदेश की बेटी सेलिंग खिलाड़ी कु. हर्षिता तोमर कतर में 10 से 20 अक्टूबर, 2015 तक आयोजित सेल कतर रिगाटा-2015 और 21 से 30 अक्टूबर तक आयोजित एशियन-ओशियाना ऑप्टीमिस्ट चैम्पियनशिप में प्रदेश का प्रतिनिधित्व किया और कांस्य पदक जीतकर प्रदेश को गौरवान्वित किया। उक्त दोनों अंतर्राष्ट्रीय स्पर्धा में भागीदारी करने वाली हर्षिता तोमर मध्य प्रदेश की एकमात्र खिलाड़ी हैं।

होशंगाबाद निवासी तेरह वर्षीय कु. हर्षिता तोमर नर्मदा की गोद में पली-बढ़ी है और वर्ष 2013 में खेल विभाग द्वारा संचालित एन.एस.एस. में इनका चयन हुआ। हर्षिता ने राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में 4 स्वर्ण और 2 रजत पदक जीते। वर्ष 2013 में मुम्बई में आयोजित राष्ट्रीय प्रतियोगिता में रजत तथा वर्ष 2014 में आयोजित राष्ट्रीय प्रतियोगिता के अंडर-12 और ओपन में एक-एक स्वर्ण पदक अर्जित किया।

इसी तरह वर्ष 2015 में पूना में आयोजित ऑप्टीमिस्ट नेशनल चैम्पियनशिप में एक रजत तथा पूना में ही आयोजित वेट एण्ड वाइल्ड रिगाटा आप्टीमिस्ट चैम्पियनशिप में एक-एक स्वर्ण पदक जीता। हर्षिता ने जर्मनी में आयोजित स्पर्धा में भी भागीदारी की।

शैला चार्ल्स, अमन व्यास, शुभम पिल्लई और एकता यादव (सेलिंग खिलाड़ी)- रियो में होने जा रहे ओलम्पिक 2016 के क्वालीफाइंग हेतु अर्जेन्टीना के ब्यूनस एरीस में आयोजित 49 मत एवं 49 मत वर्ल्ड सेलिंग चैम्पियनशिप, 2015 में म.प्र. राज्य वाटर स्पोर्ट्स अकादमी के खिलाड़ी शैला चार्ल्स, अमन व्यास, शुभम पिल्लई और एकता यादव ने भारतीय टीम का प्रतिनिधित्व किया।

प्रीति दुबे (हॉकी खिलाड़ी) – मध्य प्रदेश राज्य महिला हॉकी अकादमी की होनहार और प्रतिभावान खिलाड़ी प्रीति दुबे का भारतीय सीनियर महिला हॉकी टीम में चयन हुआ है। प्रीति दुबे की उत्कृष्ट खेल प्रतिभा के चलते जूनियर खिलाड़ी होने के बावजूद वह भारतीय टीम में चयनित हुई है।

नीलाकांता शर्मा एवं अरमान कुरैशी (हॉकी खिलाड़ी)- मलेशिया में आयोजित पांचवें सुल्तान जोहोर कप के लिए भारतीय जूनियर पुरूष हॉकी टीम में मध्य प्रदेश राज्य पुरूष हॉकी अकादमी के उदीयमान खिलाड़ी नीलाकांता शर्मा और अरमान कुरैशी  का चयन हुआ। भारतीय टीम में हॉकी अकादमी के खिलाड़ी नीलाकांता शर्मा मिड फिल्डर तथा अरमान कुरैशी फारवर्ड लाइन के खिलाड़ी हैं

चिंकी यादव, ओशिन टवानी एवं प्रियांशु पाण्डे (शूटिंग खिलाड़ी) – जर्मनी के होनोवर में आयोजित अंतर्राष्ट्रीय शूटिंग (ओपन) प्रतियोगिता में मध्य प्रदेश शूटिंग अकादमी की खिलाड़ी चिंकी यादव ने 25 मीटर स्पोर्र्ट्स पिस्टल इवेन्ट में स्वर्ण पदक और ओशिन टवानी ने रजत पदक जीतकर मध्य प्रदेश को गौरवान्वित किया। इसी तरह इटली के पोरपेरटो में आयोजित अंतर्राष्ट्रीय जूनियर चैम्पियन में म.प्र. शूटिंग अकादमी के प्रियांशु पाण्डे ने शॉटगन टीम इवेन्ट में कांस्य पदक जीतकर प्रदेश का मान बढ़ाया।

अकादमी के शूटिंग खिलाड़ी प्रियांशु पाण्डे ने ऑरिमोटिला (फिनलेण्ड) में एक जून से आठ जून 2015 तक आयेाजित सातवें इंटरनेशनल जूनियर शॉटगन कप के डबल टेऊप टीम इवेन्ट में रजत पदक जीता। प्रगति दुबे ने भी जूनियर शॉटगन कप के टेऊप टीम इवेन्ट में कांस्य पदक जीता।

सर्बिया में आयोजित चौथे नेशन्स कप टूर्नामेंट में म.प्र. बाक्सिंग अकादमी की खिलाड़ी श्रुति यादव और अंजली शर्मा ने एक-एक रजत पदक हासिल किया।

सर्बिया के रूमा में 7 से 13 जनवरी, 2016 तक होने जा रहे 5जी नेशन्स कप वूमेन बॉक्सिंग टूर्नामेंट में म.प्र. राज्य बाक्सिंग अकादमी की पांच खिलाडी बेटियां अपने खेल जौहर का प्रदर्शन करेंगी। चयनित खिलाड़ियों में दिव्या पवार (46 किलोग्राम), अंजली शर्मा (48 किलोग्राम), आशा रोका (51 किलोग्राम), सरिता सिंह तोमर (60 किलोग्राम) तथा श्रुति यादव (69 किलोग्राम) शामिल हैं।

बेल्जियम में आयोजित वर्ल्ड लीग सेमी फायनल स्पर्धा में मध्य प्रदेश राज्य महिला हॉकी अकादमी, ग्वालियर की खिलाड़ी सुशीला चानू, लिली चानू, मोनिका, रेणुका यादव, पूनम और अनुराधा देवी ने भारतीय टीम का प्रतिनिधित्व किया।

हॉलेण्ड में आयोजित वॉल्वो इंटरनेशनल अंडर-21 (महिला) टूर्नामेन्ट के लिए म.प्र. राज्य महिला हॉकी अकादमी, ग्वालियर की खिलाड़ी रेणुका यादव, प्रीति दुबे, लिली चानु और पूनम तथा अंडर-21 (पुरूष) में म.प्र. राज्य पुरूष अकादमी के नीलाकांता शर्मा और अरमान कुरैशी का भारतीय टीम में चयन हुआ।

सीनियर नेशनल कराते चैम्पियनशिप और जूनियर नेशनल कराते चैम्पियनशिप में मध्य प्रदेश लगातार 10 वर्षों से ओवर ऑल चैम्पियन हैं।

प्रदेश में मुख्यमंत्री कप प्रतियोगिता का आयोजन

प्रदेश में युवा अभियान के तहत आयोजित ‘‘मुख्यमंत्री कप‘‘ के दौरान विकासखण्ड, जिला, संभाग एवं राज्य स्तर पर विभिन्न खेल प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया जिसमें ग्रामीण प्रतिभाओं ने उत्साहपूर्वक भाग लेकर अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन किया। ‘‘मुख्यमंत्री कप’’ के अंतर्गत प्रदेश के सभी जिलों में एथलेटिक्स, कबड्डी, खो-खो और व्हालीबाल प्रतियोगिता तथा पायलट प्रोजेक्ट के रूप में इंदौर, उज्जैन, खंडवा एवं बुरहानपुर जिले में कुश्ती खेल प्रतियोगिता आयोजित हुई।

सरकार की अभिनव योजना ‘‘माँ तुझे प्रणाम’’

विभाग द्वारा संचालित ‘‘माँ तुझे प्रणाम’’ योजना के अंतर्गत अभी तक प्रदेश के करीब 3700 युवाओं को अनुभव यात्रा कराई जा चुकी है और यह क्रम निरंतर जारी है। योजनांतर्गत युवाओं को लोंगोवाल (राजस्थान), तनोत माता का मन्दिर (राजस्थान), हुसैनीवाला (पंजाब) लेह (लद्दाख) कारगिल-द्रास (जम्मू-कश्मीर), कोच्चि (केरल), आर.एस. पुरा (जम्मू-कश्मीर) बाघा बार्डर (पंजाब), बाडमेर (राजस्थान), बीकानेर (राजस्थान), पेट्रापोल (पश्चिम बंगाल), तुरा (मेघालय), नाथूला दर्रा (सिक्किम) आदि अंतर्राष्ट्रीय सीमाओं की अनुभव यात्रा पर भेजा गया।

युवाओं को मिल रहा रोजगार

विभाग एवं आई.सी.आई.सी.आई. बैंक के संयुक्त तत्वावधान में अप्रैल, 2015 से आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के युवाओं को इन्दौर में नि:शुल्क रोजगारोन्मुखी प्रशिक्षण दिया जा रहा है। इस कार्यक्रम के अंतर्गत इलेक्ट्रिकल एवं होम अप्लायंस रिपेयर, रेफ्रीजरेटर एवं एयर कंडिश्नर रिपेयर, पंप्स एवं मोटर रिपेयर एवं सेन्ट्रल एयर कंडीशनिंग, टेऊक्टर मैकेनिक, पेन्ट एप्लिकेशन टेक्निक्स का प्रशिक्षण दिया जा रहा है। इस कार्यक्रम में प्रतिवर्ष 1200 युवाओं को कौशल विकास का नि:शुल्क प्रशिक्षण दिया जा रहा है और अभी तक 900 लोगों को रोजगार उपलब्ध कराया गया है।

(एजे.)

Print Friendly, PDF & Email