Ganga

जनवरी 2019 से गंगा नदी में बनारस से गंगासागर तक नाव में यात्रा संभव

अगर सब कुछ योजना के अनुसार हुआ तो आगामी जनवरी 2019 से गंगा नदी में बनारस से गंगासागर तक श्रद्धालु और पर्यटक नाव में यात्रा कर सकेंगे।

आगामी कुंभ के दौरान वाराणसी और प्रयागराज के बीच गंगा नदी में नौकाएं चलेंगी।

केन्द्र सरकार गंगा नदी में पर्याप्‍त जल सुनिश्चित करने के भी उपाय कर रही हैं।

यह जानकारी सोमवार को केन्‍द्रीय जल संसाधन, नदी विकास और गंगा संरक्षण, सड़क परिहन और राजमार्ग तथा जहाजरानी मंत्री नितिन गडकरी ने वाराणसी में दी है।

आगामी कुंभ 2019 में 15 जनवरी से 4 मार्च तक प्रयागराज में आयोजित किया गया है। कुम्भ वैश्विक पटल पर शांति और सामंजस्य का एक प्रतीक है।

वर्ष 2017 में यूनेस्को द्वारा कुम्भ को “मानवता की अमूर्त सांस्कृतिक विरासत” की प्रतिनिधि सूची पर मान्यता प्रदान की गयी है।

Photo : The Prime Minister, Narendra Modi at the dedication of the India’s First Multi-Modal Terminal on river Ganga to the Nation, in Varanasi, Uttar Pradesh on November 12, 2018.

गडकरी ने कहा कि इसके लिए गंगा नदी के उद्भव स्‍थान गंगोत्री से लेकर पश्चिम बंगाल में अंतिम बिन्‍दु गंगा सागर तक विभिन्‍न कार्य किये जा रहे हैं।

उन्‍होंने कहा कि हाल ही में गंगा में 80 स्‍थानों पर की गई जल गुणवत्‍ता जांच के दौरान 55 स्‍थानों पर जल स्‍वच्‍छ पाया गया।

गडकरी ने उम्‍मीद जाहिर कि इन उपायों के अच्‍छे परिणाम सामने आयेंगे और आगामी मार्च तक 70 से 80 प्रतिशत गंगा स्‍वच्‍छ हो जायेगी।

 

Print Friendly, PDF & Email